Shayari

हवा से उन्हे पटकते है जिनके पैर ज़मीन पर नहीं होते मेरे दोस्त हम तो वो है जो ज़मीन से उठे और ज़मीन में मिल जाएंगे

Advertisements